dokdo

दोक्दो के बारे में तथ्य

Dokdo, Beautiful Island of Korea

संरक्षण प्रबंधन

home > दोक्दो के बारे में तथ्य > तथ्य > संरक्षण प्रबंधन

print facebook twitter Pin it Post to Tumblr

दोक्दो अपने असाधारण
ऐतिहासिक, प्राकृतिक और वैज्ञानिक मूल्य के
कारण एक प्राकृतिक स्मारक के रूप में संरक्षित है ।

प्राकृतिक स्मारक संख्या 336, दोक्दो

“दोक्दो, कोरिया के प्राकृतिक स्मारक संख्या 336 के रूप में एक 'प्राकृतिक संरक्षण क्षेत्र' है।

“सांस्कृतिक संपदा संरक्षण कानून।” - अनुच्छेद 25

『 प्राकृतिक स्मारक की परिभाषा 』(अनुच्छेद 25)

एक स्मारक या एक जानवर, पौधा, भौगोलिक विशेषता, भूवैज्ञानिक विशेषता, खनिज, गुफा, जैविक उत्पाद या प्राकृतिक घटना, जो काफी ऐतिहासिक, सुंदर या वैज्ञानिक मूल्यों से परिपूर्ण है, और जिसे संस्कृति विरासत समिति की विवेचना पर सांस्कृतिक विरासत प्रशासन ने नामित किया है।

“दोक्दो का एक पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र के रूप में देखभाल किया जा रहा है ।”

『 राष्ट्रीय भूमि योजना और उपयोग अधिनियम』अनुच्छेद-6

पर्यावरण संरक्षण क्षेत्र की परिभाषा, (अनुच्छेद-6)

प्राकृतिक पर्यावरण, जल संसाधन, तटीय क्षेत्रों, पारिस्थितिकी, जल आपूर्ति के स्रोतों और सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण और विकास के लिए प्राधिकृत क्षेत्र

“दोक्दो का एक उल्लेखनीय प्राकृतिक पारिस्थितिकी तंत्र वाले एक विलक्षण द्वीप के रूप में देखभाल किया जा रहा है। “

『 दोक्दो सहित द्वीप क्षेत्रों में पारिस्थितिकी तंत्र के संरक्षण पर विशेष अधिनियम』 अनुच्छेद-4

निर्दिष्ट द्वीप की परिभाषा (अनुच्छेद-2)

शब्द 'निर्दिष्ट द्वीप' पर्यावरण मंत्रालय द्वारा नामित और सार्वजनिक रूप से अधिसूचित किसी ऐसे द्वीप को संदर्भित करता है जहाँ लोग एक बहुत ही सीमित क्षेत्र में रहते है, लेकिन उल्लेखनीय प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र, भौगोलिक या भूवैज्ञानिक सुविधाएं या प्राकृतिक वातावरण होता है, जैसे की दोक्दो द्वीप।

“दोक्दो के सतत(दीर्घकालिक) उपयोग को बढ़ावा देने के लिए दोक्दो के आसपास प्राकृतिक पारिस्थितिकी तंत्र का रखरखाव, जलीय संसाधनों का उपयोग और समुद्री विज्ञान पर अनुसंधान एक संतुलित तरीके से किया जाता है। “

『दोक्दो द्वीप के सतत उपयोग का अधिनियम,』 अनुच्छेद-1

दोक्दो द्वीप के सतत उपयोग का अधिनियम (अनुच्छेद-1)

इस अधिनियम का उद्देश्य दोक्दो द्वीप और उसके आस पास के जलीय भागों के सतत उपयोग के लिए योगदान करने के साथ साथ दोक्दो द्वीप और उसके आस पास के जलीय भागों के प्राकृतिक पारिस्थितिकी तंत्र के संरक्षण और प्रबंधन के लिए आवश्यक उपाय करना है। (जरुरी कदम उठाना है।)