dokdo

मटेरियल केंद्र

Dokdo, Beautiful Island of Korea

दोकदो पर कोरियन साम्राज्य का क्षेत्राधिकार

home > मटेरियल केंद्र > दोक्दो, कोरियन प्रायद्वीप में जापानी अधिक्रमण का पहला शिकार > दोकदो पर कोरियन साम्राज्य का क्षेत्राधिकार

print facebook twitter Pin it Post to Tumblr
  • 1
  • 2
  • 3

शाही फरमान संख्या 41

शाही फरमान संख्या 41 (अक्टूबर 25, 1900)

〔अनूदित लेख〕

शाही नियम संख्या 41
उल्लुंग्दो का नामकरण उल्दो में एवं प्रशासक (“दोगाम”) की शहरी मजिस्ट्रेट / क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट में पदोन्नति (“गुनसु”)
अनुच्छेद 1. उल्लुंग्दो का नाम बदलकर उल्दो होगा जो गांगवन-दो (गांगवन प्रांत) के अधिकार क्षेत्र में होगा । प्रशासक को क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट के रूप में अधिकारी तंत्र में पदोन्नति दी जाएगी और क्षेत्र पाँचवें स्तर का क्षेत्र होगा ।
अनुच्छेद 2. यह क्षेत्र थैहादोंग में स्थित होगा, और उल्लुंग्दो के साथ-साथ जुकदो और सक्दो (दोक्दो) के सारे जिले उल्दो-गुन (उल्दो क्षेत्र) के अधिकार क्षेत्र में होगा ।
अनुच्छेद 3. उल्लुंग्दो से शुरू 19 कानूनी दस्तावेजों को 504 वीं राष्ट्रीय स्थापना दिवस में दिनांक 16 अगस्त से सरकारी राज में सरकारी कार्यालय के खंड से हटा दिया जाएगा । 505 वीं वर्ष के स्थापना दिवस के शाही फरमान – 36 के अनुच्छेद 5 में “गांगवन प्रांत के 26 शहरों” को “27 शहरों” में बदल दिया जाएगा और उल्दो-गुन में अनह्योप-गुन के अंतर्गत तीन विशेषताओं को जोड़ दिया जाएगा ।
अनुच्छेद 4. पाँचवीं स्तर के शहरों के लिए बजट का आवंटन किया जाएगा । चूँकि पहले से निर्धारित आधिकारिक रिक्तियों को अभी भरा जाना है, इसके लिए सबसे पहले बजट का आवंटन किया जाएगा ।
अनुच्छेद 5. इस द्वीप के विकास के अनुरूप वर्तमान में अनुपस्थित प्रावधानों को बाद में शामिल किया जाएगा ।
नियमानुसार
अनुच्छेद 6. यह फरमान घोषणा के दिन से ही लागू माना जाएगा ।

ग्वाँगमू के चौथा वर्ष (अक्टूबर 25, 1900)

यी गोन-हा, अस्थायी कार्यकारी राज्य परिषद् प्रधानमंत्री और छानजोंग, आतंरिक मामलों के मंत्री

〔मूल लेख〕

Original Text